निवर्तमान राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने तीन नवंबर को राष्ट्रपति पद के लिये हुए चुनावों में डेमोक्रेट बाइडन से करीबी मुकाबले के बाद हार मानने से इनकार कर दिया और वह परिणाम के लिहाज से अहम रहे कई राज्यों में कानूनी लड़ाई का दबाव बना रहे हैं, लेकिन मतदाताओं को लेकर अनियमितताओं या चुनावों में बड़े पैमाने पर गड़बड़ी के कोई साक्ष्य नहीं मिले हैं. इन चुनावों को हालिया अमेरिकी इतिहास में सबसे विभाजक और कड़वाहट भरे राष्ट्रपति चुनाव के तौर पर देखा जा रहा है.

यह भी पढ़ें:अमेरिका : चुनाव में करारी हार से भन्नाए ट्रंप, रक्षा मंत्री मार्क एस्पर को पद से हटाया

राष्ट्रपति का नतीजों को स्वीकार करने से इनकार का मतलब है कि चुनाव संबंधी विवाद हफ्तों चल सकता है क्योंकि राज्य अपने आंकड़ों को प्रमाणित करेंगे या फिर यह दिसंबर के मध्य तक खिंच सकता है जब 538 सदस्यीय इलेक्टोरल कॉलेज को मतदान करना है.

राष्ट्रपति ट्रंप बार-बार और निराधार दावे करते रहे हैं कि डेमोक्रेटिक पार्टी ने चुनाव के नतीजों में गड़बड़ी की कोशिश की.

कुछ अमेरिकी मीडिया के अनुमानों के मुताबिक बाइडन ने कम से कम 290 इलेक्टोरल मत जीते हैं जो 538 इलेक्टोरल कॉलेज मतों में से जीत के लिये जरूरी 270 से 20 ज्यादा हैं. ट्रंप को 214 इलेक्टोरल मत मिले हैं.

शनिवार को मीडिया ने चूंकि बाइडन के महत्वपूर्ण राज्य पेन्सिलवेनिया में जीत और व्हाइट हाउस पर दावा करने के लिये पर्याप्त मत हासिल करने का अनुमान व्यक्त किया था, नवनिर्वाचित राष्ट्रपति ने सत्ता की बागडोर संभालने की अपनी योजना पर कदम बढ़ाने शुरू कर दिये थे.

बाइडन ने सोमवार को कोरोना वायरस पर उन्हें परामर्श देने के लिये एक कार्यबल का गठन किया था. इस महामारी से देश में 2.36 लाख से ज्यादा लोगों की जान जा चुकी है. बाइडन तकनीकी रूप से मौजूदा सरकारी कर्मचारियों के साथ जनवरी के अपने शपथ-ग्रहण से पहले सरकार बनाने की पहल नहीं कर सकते, जब तक ट्रंप द्वारा ऐसा करने की मंजूरी न दी जाए. ट्रंप ने बाइडन से हार नहीं मानी है और सार्वजनिक रूप से हार स्वीकार भी नहीं की है.

व्हाइट हाउस के प्रेस सचिव ने सोमवार को मतदाताओं की धोखाधड़ी को लेकर अपुष्ट दावे किये. रिपब्लिकन नेशनल कमेटी की अध्यक्ष रोन्ना मैक्डेनियल के साथ प्रेस सचिव कैली मैकनैनी ने एक संवाददाता सम्मेलन में कहा, “यह चुनाव अभी संपन्न नहीं हुआ है, उससे काफी दूर है. हमनें अभी सटीक, ईमानदार मतगणना नतीजे हासिल करने की प्रक्रिया शुरू की है. हम सभी अमेरिकियों के अधिकार के लिये लड़ रहे हैं जो न सिर्फ इन चुनावों में भरोसा चाहते हैं बल्कि आने वाले कई चुनावों में भी.”

ट्रंप के प्रचार अभियान सलाहकार के तौर पर मैकनैनी ने डेमोक्रेटिक पार्टी पर निशाना साधते हुए कहा कि अमेरिका में सिर्फ एक दल है जो मतदाता पहचान-पत्र, हस्ताक्षरों के सत्यापन, नागरिकता, आवास प्रमाण-पत्र और अर्हता का विरोध करता है.

उन्होंने कहा, “अमेरिका में सिर्फ एक दल है जो मतगणना कक्ष से पर्यवेक्षकों को दूर रखने की कोशिश करता है और मेरे दोस्तों वह डेमोक्रेटिक पार्टी है. आप यह रुख इसलिये नहीं अपनाते क्योंकि आप ईमानदार चुनाव चाहते हैं.” मैक्डेनियल ने संवाददाताओं को बताया कि मिशिगन में पार्टी ने मतदान संबंधी गड़बड़ियों को लेकर दो नई याचिकाएं दायर की हैं.

उन्होंने कहा, “यहां तक कि चुनावी गड़बड़ी का एक मामला भी हम सभी के लिये काफी होना चाहिए.” इस बीच, अमेरिकी अटॉर्नी जनरल विलियम बार्र ने संघीय अभियोजकों को बताया कि उन्हें आने वाले हफ्तों में राज्यों द्वारा नतीजों के प्रमाणन के कदम से पहले चुनावी गड़बड़ियों के आरोपों की जांच करनी चाहिए. बार्र के इस कदम के बाद न्याय विभाग के चुनाव अपराधों के शीर्ष अभियोजक ने इस्तीफा दे दिया.

(इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here