इंटरपोल ने कोरोना संक्रमित पत्र को लेकर चेतावनी दी है. (फाइल फोटो)

नई दिल्ली:

दुनियाभर के 180 से ज्यादा देशों में कोरोनावायरस (Coronavirus) ने हाहाकार मचाया हुआ है. अब इसको लेकर एक बड़ी साजिश का खुलासा हुआ है. दुनिया के दिग्गज नेताओं और हस्तियों के खिलाफ दुश्मन COVID-19 का इस्तेमाल कर रहे हैं. इंटरपोल ने सभी देशों की प्रमुख एजेंसियों को चेतावनी दी है कि वह ऐसे पत्रों से सतर्क रहें, जो कोरोना से संक्रमित हो सकते हैं. वैश्विक नेताओं को निशाना बनाने के लिए उन्हें इस तरह के संक्रमित पत्र भेजे जा सकते हैं.

यह भी पढ़ें

इंटरपोल ने अपने नए दिशा-निर्देशों में भारत समेत कई देशों को सतर्क रहने के लिए चेतावनी दी है. इंटरपोल ने कहा कि ऐसे भी कुछ मामले सामने आए हैं, जहां राजनेताओं को कोरोना संक्रमित पत्र भेजे गए हैं. कोरोना संक्रमित चिट्ठी को अन्य समूहों पर भी इस्तेमाल किया जा सकता है. हालांकि, इंटरपोल ने ऐसे किसी भी नेता के नाम का जिक्र नहीं किया है, जिसे संक्रमित चिट्ठी भेजी गई हो. इंटरपोल ने बताया कि कुछ लोग संक्रमित सैंपल को ऑनलाइन भी बेच रहे हैं.

भारत की कोरोना टीकाकरण रणनीति की समीक्षा के लिए पीएम मोदी ने की बैठक

इंटरपोल ने कहा कि जो लोग नेताओं या मशहूर हस्तियों की सुरक्षा में तैनात हैं, उन्हें ज्यादा सतर्क रहने की जरूरत है. साथ ही डाक विभाग को भी इस जैविक हमले से सतर्क रहने की जरूरत है. इंटरपोल ने अपनी गाइडलाइन में कहा है कि ऐसे भी मामले सामने आए हैं, जब पुलिस अधिकारियों, डॉक्टरों, स्वास्थ्यकर्मियों और जरूरी सेवाओं से जुड़े लोगों पर जान-बूझकर थूका गया. इससे लोगों के कोरोना से संक्रमित होने का जोखिम बढ़ सकता है.

दिल्ली में कोरोना के हालात में हल्के सुधार के संकेत, टेस्ट के मुकाबले कम मामले सामने आए

दिशा-निर्देशों में यह भी कहा गया है कि फर्श पर थूककर या किसी के मुंह या वस्तु पर खांसकर संक्रमण फैलाने के प्रयास किए जा रहे हैं. इंटरपोल ने संबंधित विभागों को साइबर अटैक को लेकर भी सावधान रहने को कहा है.

Newsbeep

VIDEO: कोवैक्सीन पूरी तरह से भारतीय, शुरुआती ट्रायल में सुरक्षित पाई गई है : रणदीप गुलेरिया

(हेडलाइन के अलावा, इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है, यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here