• Hindi News
  • International
  • America Becomes First Country To Cross 10 Million Infected, Vulnerable To Third Wave Of Epidemic

एक घंटा पहले

कंपनी का कहना है कि वॉलंटियर्स को यह वैक्सीन दी गई थी। उन पर इसने 90 प्रतिशत से ज्यादा असर दिखाया।

अमेरिकी दवा कंपनी फाइजर ने दावा किया है कि ट्रॉयल के दौरान उनकी कोरोना वायरस वैक्सीन ने उम्मीद से बेहतर नतीजे दिए हैं। कंपनी का कहना है कि वॉलंटियर्स को यह वैक्सीन दी गई थी। उन पर इसने 90 प्रतिशत से ज्यादा असर दिखाया। फाइजर ने यह वैक्सीन जर्मन दवा निर्माता कंपनी बायो एन टेक के साथ मिलकर विकसित की है।

कंपनी इस महीने वैक्सीन के दो डोज के लिए फूड एंड ड्रग एडमिनिस्ट्रेशन से आपातकालीन मंजूरी लेने की योजना बना रही है। इसके लिए नवंबर के तीसरे सप्ताह में आवेदन किया जाएगा।

‘यह ऐतिहासिक पल’

फाइजर के वैक्सीन रिसर्च एंड डेवलपमेंट की हेड कैथरीन जानसेन ने कहा कि यह ऐतिहासिक पल है। इससे पहले ऐसा कभी नहीं हुआ है। सबसे पहले दुनिया को एक भयानक स्थिति महामारी का सामना करना पड़ा। इसके बाद हम कुछ महीनों में ही वैसा करने में सक्षम हो गए, जिसे करने में कई साल लगते। एनालिसिस के हिसाब से हम 90 प्रतिशत से ज्यादा प्रभावी रहे हैं। यह सुनना बहुत हैरानी भरा था।

44 हजार लोगों पर ट्रायल

फाइजर ने 6 देशों के लगभग 44,000 लोगों पर वैक्सीन का ट्रायल किया है। वैक्सीन देने के बाद वॉलंटियर के स्वास्थ्य पर कोई गंभीर खतरा नजर नहीं आया। अभी यह तीसरे फेज में है। फेज थ्री ट्रायल का अंतिम चरण होता है। इसमें 94 लोगों को वैक्सीन का डोज दिया गया। इनमें कोरोना के कोई लक्षण नहीं थे। इनमें से 9 लोगों में वैक्सीन ने मजबूत असर दिखाया।

वैक्सीन की दो डोज देने की जरूरत होती है। इन्हें तीन सप्ताह में दिया जाता है। बायो एन टेक बड़े पैमाने पर इसके उत्पादन के लिए दिन-रात काम कर रही है। उम्मीद है इस साल कंपनी पांच करोड़ डोज तैयार कर लेगी। इससे ढाई करोड़ लोगों को दो डोज दिए जा सकेंगे। 2021 के आखिर तक 1.3 अरब डोज तैयार करने की योजना है।

यूक्रेन के राष्ट्रपति संक्रमित

यूरोपीय देश यूक्रेन के राष्ट्रपति व्लादिमिर जेलेंस्की ने सोमवार को ट्वीट कर बताया कि उनकी कोरोना टेस्ट रिपोर्ट पॉजिटिव आई है। उन्होंने कहा कि मैं अच्छा महसूस कर रहा हूं। काफी विटामिन ले रहा हूं। मैं आइसोलेट रहूंगा, लेकिन काम करता रहूंगा। यूक्रेन में अब तक कोरोना के 4,69,018 मामले आ चुके हैं। साढ़े 8 हजार से ज्यादा लोगों की इससे मौत हो चुकी है।

बीते 10 दिन में अमेरिका में लाखों मामले सामने आए

अमेरिका दुनिया का पहला देश बन गया है जहां कोरोना संक्रमितों का आंकड़ा एक करोड़ के पार हो गया है। रॉयटर्स न्यूज एजेंसी के मुताबिक, अमेरिका में कोरोना की तीसरी लहर शुरू हो चुकी है। बीते 10 दिन में अमेरिका में लाखों मामले सामने आए हैं। वॉशिंगटन में 293 दिन पहले कोरोना का पहला केस आया था। अमेरिका में शनिवार को 1 लाख 31 हजार 420 मामले दर्ज किए गए थे।

अमेरिका में बीते सात दिन में कोरोना के नए मामले आने का औसत 1 लाख 5 हजार 600 रहा। इसमें 29% की बढ़ोतरी देखी गई। अमेरिका के कुल मामले भारत (85 लाख से ज्यादा) और फ्रांस (17 लाख से ज्यादा) केसों से ज्यादा हैं। अब तक कोरोना से दुनिया में 5 करोड़ 7 लाख 37 हजार 875 केस सामने आ चुके हैं। 12 लाख 62 हजार 130 लोगों की मौत हो चुकी है। 3 करोड़ 57 लाख 95 हजार 252 लोग ठीक भी हो चुके हैं।

इन 10 देशों में कोरोना का असर सबसे ज्यादा

देश

संक्रमित मौतें ठीक हुए
अमेरिका 10,288,480 243,768 6,483,420
भारत 8,553,864 126,653 7,917,373
ब्राजील 5,664,115 162,397 5,064,344
फ्रांस 1,787,324 40,439 128,614
रूस 1,774,334 30,537 1,324,419
स्पेन 1,388,411 38,833 उपलब्ध नहीं
अर्जेंटीना 1,242,182 33,560 1,062,911
यूके 1,192,013 49,044 उपलब्ध नहीं
कोलंबिया 1,143,887 32,791 1,038,082
मैक्सिको 967,825 95,027 715,977

फिलीपींस: पौधों का क्रेज बढ़ा

पूरे फिलीपींस में लोग घरों में ग्रीनरी बढ़ाने पर जोर दे रहे हैं।

पूरे फिलीपींस में लोग घरों में ग्रीनरी बढ़ाने पर जोर दे रहे हैं।

कोरोना काल में प्रतिबंधों के चलते देश में पौधों की बिक्री तेजी से बढ़ी है। पौधों की कीमतें भी काफी बढ़ी हैं। महामारी के दौरान तनाव और बोरियत से बचने के लिए लोग घरों में पौधे लगाने को जोर दे रहे हैं। महामारी के पहले पौधों की कीमत 800 पेसो हुआ करती थी, जो अब बढ़कर 55 हजार पेसो पहुंच चुकी है। मनीला की एक प्लांट सेलर अरलीन गुमेरा-पाज कहती हैं कि लॉकडाउन के दौरान रोज का टर्नओवर तिगुना हो चुका है।

फ्रांस: 24 घंटे में 38,619 मामले आए

पेरिस में लोगों से ऐहतियात बरतने की अपील की जा रही है।

पेरिस में लोगों से ऐहतियात बरतने की अपील की जा रही है।

फ्रांस में कुल मामले 18 लाख के करीब हैं। अस्पताल में मरीजों की संख्या 30 हजार 243 हो गई है। 118 मरीज वेंटिलेटर पर हैं। संक्रमण को नियंत्रित करने के लिए फ्रांस ने 30 अक्टूबर को नया लॉकडाउन किया है। इसके तहत गैर-जरूरी दुकानों, कैफे, रेस्तरां को बंद कर दिया गया है। लोगों को घर में रहने का आदेश दिया गया है। केवल जरूरी चीजें, स्वास्थ्य आपातकाल जैसी स्थितियों में ही बाहर निकलने की छूट दी गई है।

ब्रिटेन ने डेनमार्क से आने वाले यात्रियों पर लगाए कड़े प्रतिबंध

फोटो लंदन की है। लोगों को मास्क के लिए अवेयर करने के लिए शहर में होर्डिंग लगाए गए हैं।

फोटो लंदन की है। लोगों को मास्क के लिए अवेयर करने के लिए शहर में होर्डिंग लगाए गए हैं।

डेनमार्क में कोरोना संक्रमण में इजाफे के बाद रविवार को ब्रिटेन ने नए उपाय किए हैं। ब्रिटिश नागरिक डेनमार्क से वापस आ सकते हैं, लेकिन उन्हें और उनके घर के सभी सदस्यों को 14 दिनों के लिए आइसोलेशन में रहना होगा। बीबीसी के अनुसार, केबिन क्रू को भी अब नियमों में छूट नहीं दी गई है। 5 नवंबर से इंग्लैंड में दूसरा लॉकडाउन लागू हुआ है।



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here