दुनिया में किस कंपनी की कोरोना वैक्सीन की क्या है कीमत? ये रही पूरी लिस्ट


नई दिल्ली: भारत में 16 जनवरी से दुनिया का सबसे बड़ा कोरोना वैक्सीन अभियान शुरू होने जा रहा है. इसमें पहले चरण में 3 करोड़ लोगों को भारत में इमरजेंसी यूज ऑथोराइजेशन मिली दो वैक्सीन दी जाएंगी. केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के मुताबिक दुनिया में बाकी वैक्सीन के मुक़ाबले ये वैक्सीन सबसे सस्ती और कारगर है. स्वस्थ्य मंत्रालय के मुताबिक भारत सरकार ने सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया और भारत बायोटेक इंटरनेशनल लिमिटेड से वैक्सीन खरीदना शुरू कर दिया है.

भारत सरकार ने सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया से 1 करोड़ 10 लाख वैक्सीन 200 प्रति डोज खरीदी है. इस 200 रुपए में टैक्स शामिल नहीं है. वहीं सरकार ने भारत बायोटेक इंटरनेशनल लिमिटेड से 55 लाख डोज लिए हैं. इसमें से 38.8 लाख वैक्सीन डोज 295/- रुपए प्रति डोज खरीदी है. जबकि 16.5 लाख डोज भारत बायोटेक इंटरनेशनल लिमिटेड ने भारत सरकार को मुफ्त दी है. ऐसा करने की वजह से सरकार का कहना है की इन 55 लाख वैक्सीन की कीमत 206/- रुपए प्रति डोज हो जाती है. केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने दुनिया में मिली वैक्सीन की कीमत पर भी जानकारी दी.

विश्व स्तर पर

  • फाइजर बायोंटेक की वैक्सीन का दाम 19.50 यूएस डॉलर प्रति डोज है, यानी भारत में इसकी दो डोज की कीमत 2800 से ज्यादा होगी.
  • मॉडर्ना की वैक्सीन की कीमत एक डोज की 32-37 यूएस डॉलर है यानी भारत में 2348 से 2715 रुपए प्रति डोज होगी.
  • चीन की साइनोफोर्म वैक्सीन की कीमत 77 यूएस डॉलर प्रति डोज है यानी 5650 से अधिक डोज पर उपलब्ध है.
  • सिनोवाक बायोटेक की एक डोज 14 डॉलर प्रति डोज है यानी करीब 1027/- रुपए प्रति डोज होगी.
  • नोवावैक्स की एक डोज की कीमत 16 डॉलर प्रति डोज है यानी 1114/- रुपए प्रति डोज पर मिलेगी.
  • स्पूतनिक वी और जॉन एंड जॉनसन की वैक्सीन एक डोज 10 डॉलर की है जोकि 700 रुपए प्रति डोज होगी.

बाकि देशों की तुलना में भारत में बन रही वैक्सीन काफी सस्ती है

इसमें से फाइजर की वैक्सीन के लिए -70 डिग्री के तापमान के स्टोरेज की जरूरत है, जबकि बाकी 2 से 8 डिग्री पर स्टोर की जा सकती है. इसमें बाकी चीज़ें यानी ट्रांसपोर्टेशन और टैक्सेस शामिल नहीं है. ऐसे में इसके दाम और बढ़ सकते है. बाकि देशों की तुलना में भारत में बन रही वैक्सीन काफी सस्ती है.

इन शहरों में रखी जाएगी वैक्सीन

सरकार के मुताबिक 12 जनवरी तक 54 लाख 72 हजार वैक्सीन मिल चुकी है. वहीं बाकी वैक्सीन 14 जनवरी तक सरकार को मिल जाएंगी. इनको रखने के लिए स्टोरेज फैसिलिटी पूरी तरह तैयार है. इसमें 4 बड़ी स्टोरेज GMSD करनाल, मुंबई, कोलकाता और चेन्नई में है. वहीं राज्यों में भी स्टेट वैक्सीन स्टोर है. उत्तर प्रदेश में 9, मध्य प्रदेश में 4, गुजरात में 4, केरल में 3, कर्नाटका में 2, जम्मू और कश्मीर में 2 और राजस्थान में 2 है.

पहले चरण में किसे मिलेगी वैक्सीन

पहले चरण में तीन करोड़ लोगों को ये वैक्सीन दी जाएगी. इसमें हेल्थ केयर वर्कर और फ्रंटलाइन वर्कर शामिल हैं. केंद्र सरकार इन्हें ये वैक्सीन मुफ्त देगी. भारत में वैक्सीनेशन 16 जनवरी से शुरू हो रहा है.

Exclusive: वैक्सीन कंसाइनमेंट निकलने के बाद सीरम इंस्टीट्यूट में कर्मचारियों ने मनाया जश्न, अदार पूनावाला ने कही ये बात



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *