नई दिल्ली: रूस ने कहा है कि अंतरिम परीक्षण परिणामों के अनुसार COVID-19 से लोगों की रक्षा करने में रूस का स्पुतनिक वी वैक्सीन 92 प्रतिशत प्रभावी है.

बता दें कि मंगलवार को ही रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन ने कहा कि कोविड-19 के खिलाफ रूस के दो टीके ‘‘प्रभावी’’ और ‘‘सुरक्षित’’ हैं तथा तीसरा टीका भी आने वाला है. उन्होंने यह भी कहा कि टीका संबंधी मुद्दे का राजनीतिकरण नहीं किया जाना चाहिए.

डिजिटल रूप से आयोजित शंघाई सहयोग संगठन (एससीओ) शिखर सम्मेलन को संबोधित करते हुए पुतिन ने कहा, ‘‘हमारे पास रूस में दो पंजीकृत टीके हैं और परीक्षण पहले ही पुष्टि कर चुके हैं कि टीके सुरक्षित हैं तथा इनका कोई दुष्प्रभाव नहीं है और ये प्रभावी हैं. तीसरा टीका भी आने वाला है.’’

हाल ही में अमेरिका में अग्रणी दवा कंपनी फाइजर ने कहा है कि उसके टीका के विश्लेषण से पता चला है कि यह कोविड-19 को रोकने में 90 प्रतिशत तक कारगर हो सकता है.

इससे संकेत मिलता है टीके को लेकर कंपनी का परीक्षण सही चल रहा है और वह अमेरिकी नियामक के पास इस संबंध में एक आवेदन दाखिल कर सकती है.

भारत की प्रतिक्रिया

स्वास्थ्य मंत्रालय ने मंगलवार को कहा कि कोविड-19 का टीका उपलब्ध कराने को लेकर राष्ट्रीय विशेषज्ञ समूह की सभी घरेलू और विदेशी टीका निर्माताओं के साथ बातचीत चल रही है.

क्या भारत कोविड-19 टीके के लिए फाइजर के साथ तालमेल करने पर विचार कर रहा है और टीके के लिए विशेष कोल्ड चेन को लेकर आधारभूत संरचना है, इस पर केंद्रीय स्वास्थ्य सचिव राजेश भूषण ने कहा, ‘‘कोविड-19 टीका उपलब्ध कराने के लिए राष्ट्रीय विशेषज्ञ समूह घरेलू और विदेशी निर्माताओं समेत सभी टीका निर्माताओं के साथ बातचीत कर रहा है. ’’

 



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here