मुंबई: देश में कोरोना वायरस का कहर थमने का नाम नहीं ले रहा है. हर रोज कोरोना वायरस के नए संक्रमित मरीजों की पुष्टि हो रही है. इस बीच महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने लोगों से कोरोना वायरस के कारण सावधानी बरतने की अपील की है. सीएम उद्धव ठाकरे ने कहा कि कोरोना वायरस की अभी तक कोई वैक्सीन नहीं है. इसलिए कोरोना वायरस के बचाव के उपाय करने चाहिए. मास्क पहनना, समय-समय पर हाथ धोना और दो गज दूरी को बनाए रखना काफी जरूरी है क्योंकि कोरोना अभी खत्म नहीं हुआ है. इसके साथ ही सीएम ठाकरे ने कहा कि अगर सारी जगहों को खोल दिया जाए और कोरोना के कारण हालात बिगड़ते हैं तो उसकी जवाबदेही कौन लेगा?

महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने 26/11 के शहीदों को श्रद्धांजलि दी. इसके साथ ही कोरोना वायरस को लेकर उन्होंने कहा, ‘आज तक जो भी त्योहार आए, वो काफी सादगी से लोगों ने मनाए हैं. मैंने जो बताया आप लोगों ने उसका पालन किया, उसके किए आपका धन्यवाद. मैं खुद इस नियम का पालन कर रहा हूं. शिवसेना की दशहरा रैली इस बार शिवाजी पार्क में नहीं हुई. एकदम सादगी के साथ हुई.’

सीएम ठाकरे ने लोगों से अपील करते हुए कहा कि कार्तिक एकादशी के दिन एक जगह इकट्ठा न हों. दिवाली के बाद ज्यादा सावधानी बरतने की जरूरत है. अहमदाबाद में कर्फ्यू लगाया गया है. महाराष्ट्र में भी लोगों को सतर्कता बरतने की जरूरत है. आज भी लोग बिना मास्क के घूम रहे हैं. सीएम ठाकरे ने अपील करते हुए कहा कि मास्क जरूर लगाएं.

कौन लेगा जवाबदेही?

वहीं सीएम उद्धव ठाकरे ने कहा, ‘ये खोलो वो खोलो जो लोग ऐसी मांग कर रहे हैं क्या वो हालात बिगड़ने पर जवाबदेही लेंगे? जो लोग हर चीज खोल देने की मांग कर रहे हैं, ऐसे में अगर सारी जगहों को खोल दिया जाए और कोरोना के कारण हालात बिगड़ते हैं तो उसकी जवाबदेही कौन लेगा? मेरी अपील है कि जब तक जरूरी न हो, तब तक घर से बाहर न निकलें. दिल्ली और दूसरी जगहों पर हालात बिगड़ रहे हैं, ऐसे में मेरी लोगों से प्रार्थना है कि नियमों का पालन करें. मुझे लॉकडाउन लगाने का कोई शौक नहीं है.’

यह भी पढ़ें:

कोरोना की मौजूदा स्थिति की समीक्षा के लिए राज्यों के साथ बैठक कर सकते हैं पीएम मोदी, वैक्सीन पर भी चर्चा संभव



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here