H1N2 वायरस: साल 2020 के लिए ज्यादा बुरी खबर आने का सिलसिला जारी है. कनाडा के स्वास्थ्य अधिकारियों का कहना है कि देश में H1N2 वायरस से किसी इंसान के संक्रमित होने का पहला मामला उजागर हुआ है. H1N2 वायरस स्वाइन फ्लू का दुर्लभ स्ट्रेन है.

कनाडा में पहली बार H1N2 वायरस से संक्रमण का खुलासा

एएफपी की रिपोर्ट के मुताबिक, संक्रमण की पहचान बहुत पहले मध्य अक्टूबर में कर ली गई थी. घटना कनाडा के पश्चिमी प्रांत अल्बर्टा की है. बयान में स्थानीय स्वास्थ्य अधिकारियों ने बताया कि “इस वक्त आसपास के लोगों में संक्रमण फैलने का खतरा नहीं है. मामले को अलग-थलग कर दिया गया है. फ्लू के मौसम में अब तक ये सिर्फ इन्फलुएंजा का मामला दर्ज किया गया है.”

बयान के मुताबिक, जीरो नामी मरीज में इन्फलुएंजा की तरह हल्के लक्षण को देखा गया. लक्षणों की ‘जांच’ की गई और मरीज ‘जल्दी ठीक हो गया’. बयान में कहा गया कि इस बात का कोई सबूत नहीं है कि वायरस का संक्रमण देश में फैल गया है. फिर भी, स्वास्थ्य अधिकारी मामले पर नजर बनाए हुए हैं. वायरस की शुरुआत कहां से हुई और क्या ये देश के अन्य हिस्सों में फैल गया है, इसका भी पता लगाया जा रहा है.

कनाडा की मुख्य सार्वजनिक स्वास्थ्य अधिकारी थेरेसा टेम ने ट्विटर पर लिखा, “इंसानों में फ्लू की ये दुर्लभ किस्म है. संक्रमण का एक इंसान से दूसरे इंसान में फैलने का पता नहीं चला है.”

H1N2 वायरस को स्वाइन फ्लू का दुर्लभ स्ट्रेन बताया गया 

2005 से H1N2 वायरस से संक्रमित होने के सिर्फ 27 मामले दुनिया भर में उजागर हो चुके हैं. इससे पहले, कनाडा में इस तरह का कोई मामला सामने नहीं आया था. H1N2 वायरस कभी-कभी अपने सबसे आम परिवार H1NI के वायरस से भ्रमित हो जाता है. H1N2 का संक्रमण फूड संबंधित बीमारियों से नहीं होता है और न ही सुअर के मांस खाने से इंसानों में बीमारी फैलती है.

IPL 2020: नए यॉर्कर किंग बनकर उभरे टीन नटराजन, बुमराह, बोल्ट जैसे गेंदबाजों को भी पछाड़ा

कुछ लोगों के सिर के बाल वक्त से पहले क्यों हो जाते हैं सफेद? जानिए बचाव के उपाय





Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here