US Capitol Violence Live Updates: डोनाल्ड ट्रंप के समर्थक घुसे US कैपिटॉल में, दुनियाभर के नेताओं ने दी ऐसी प्रतिक्रिया


US Capitol Violence Updates: डोनाल्ड ट्रंप के समर्थक घुसे अमेरिकी संसद US कैपिटॉल में…

संयुक्त राज्य अमेरिका की राजधानी वाशिंगटन में US कैपिटॉल परिसर के बाहर निवर्तमान राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के समर्थकों और पुलिस के बीच हिंसक झड़प हुई है, जिसके बाद परिसर को ‘लॉकडाउन’ कर दिया गया है. अब ‘बाहरी सुरक्षा खतरे’ के चलते किसी भी शख्स को कैपिटॉल परिसर से बाहर आने या उसके भीतर जाने की अनुमति नहीं है. जिस वक्त संसद के भीतर दोनों सदनों के सांसद नवनिर्वाचित राष्ट्रपति जो बाइडेन की जीत को प्रमाणित करने के लिए सत्र में बैठे थे, उसी वक्त कैपिटॉल पुलिस ने सुरक्षा उल्लंघन की घोषणा की. इस घटना के बाद दुनियाभर के नेताओं ने इस घटना पर प्रतिक्रिया व्यक्त की है.

भारत की वनिता गुप्ता को मिली बाइडेन प्रशासन में अहम जिम्मेदारी
अमेरिका में हिंसा के बीच बाइडेन ने कई अफसरों की नियुक्ति की

डोनाल्‍ड ट्रंप के फेसबुक, इंस्‍टाग्राम अकाउंट पर प्रतिबंध अनिश्चित काल के ल‍िए बढ़ाया गया
अमेरिकी संसद में हुई हिंसा के मामले में सोशल मीडिया कंपनियों ने राष्ट्रपति डोनाल्‍ड ट्रंप के खिलाफ कड़ा कदम उठाया है. ट्रंप के फेसबुक, इंस्‍टाग्राम अकाउंट पर प्रतिबंध अनिश्चित काल के ल‍िए बढ़ा दिया गया है. ट्विटर (Twitter) ने ट्रंप के कुछ ट्वीट्स को हटाने के साथ ही 12 घंटे के लिए उनका हैंडल सस्पेंड कर दिया था. ट्विटर के इस कदम के बाद फेसबुक और इंस्टाग्राम ने भी उन पर 24 घंटे का बैन लगा दिया. बाद में इसे बढ़ा दिया गया.

US Violence: कनाडा के प्रधानमंत्री जस्टिन ट्रूडो ने किया ट्वीट

न्यूज एजेंसी भाषा के अनुसार, कनाडा के प्रधानमंत्री जस्टिन ट्रूडो ने कहा कि उनका देश अमेरिका में कैपिटल परिसर में हुई हिंसा की घटना से बहुत क्षुब्ध है. कनाडा अमेरिका का करीबी सहयोगी देश रहा है.

US Violence: फ्रांस के राष्ट्रपति एमैनुएल मैक्रों ने किया ट्वीट

न्यूज एजेंसी भाषा के अनुसार, फ्रांस के राष्ट्रपति एमैनुएल मैक्रों ने अपने आधिकारिक ट्विटर अकाउंट पर वीडियो पोस्ट कर कहा, ”हम लोकतंत्र पर सवाल उठाने वाले कुछ चंद लोगों को हिंसा की इजाजत नहीं दे सकते हैं. हम लोग लोकतंत्र में विश्वास करते हैं और वाशिंगटन में आज जो कुछ हुआ वह असल अमेरिका नहीं है.”

US Violence: ब्रिटेन के प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन ने की हिंसा की निंदा

न्यूज एजेंसी भाषा के अनुसार, ब्रिटेन के प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन ने ट्वीट किया, ”अमेरिकी संसद परिसर में अशोभनीय दृश्य देखने को मिले. अमेरिका विश्व भर में लोकतंत्र के लिए खड़ा रहता है. यह महत्वपूर्ण है कि सत्ता हस्तांतरण शांतिपूर्ण और तय प्रक्रिया के तहत उचित तरीके से हो.” ब्रिटेन के विदेश मंत्री डोमिनिक राब ने ट्वीट किया, ”अमेरिका को अपनी लोकतांत्रिक व्यवस्था पर गर्व होना चाहिए और सत्ता के उचित तरीके से हस्तांतरण में गैरकानूनी रूप से इस तरह की हिंसा को बिल्कुल उचित नहीं ठहराया जा सकता.”

US Violence: कांग्रेस सांसद शशि थरूर ने किया ट्वीट

कांग्रेस सांसद शशि थरूर ने बीजेपी MP वरुण गांधी द्वारा शेयर किए गए वीडियो पर अपनी बात रखी है.

US Violence: हिंसा मामले में 52 लोग गिरफ्तार

DC के पुलिस प्रमुख रॉबर्ट कॉन्टी ने जानकारी दी है कि कैपिटल हिल्स हिंसा मामले में अब तक 52 लोगों को गिरफ्तार किया गया है. दो पाइप बम भी बरामद किए गए हैं.

US Violence: बीजेपी सांसद वरुण गांधी ने किया ट्वीट

अमेरिकी कैपिटल हिल्स में हिंसक झड़प के दौरान बाहर जमा ट्रंप समर्थक झंडे लहरा रहे थे. इस दौरान वहां भारतीय ध्वज देख बीजेपी सांसद वरुण गांधी ने प्रतिक्रिया दी है.

इतिहास इस हिंसा को कभी नहीं भूलेगा : बराक ओबामा

अमेरिकी संसद के दृश्य विचलित करने वाले हैं : प्रियंका गांधी वाड्रा

अमेरिकी संसद में जो हुआ, निराशाजनक है : ऑस्ट्रेलियाई PM

बराक ओबामा ने ट्रंप को ठहराया ज़िम्मेदार, कहा – शर्मिंदगी का पल

अमेरिका के पूर्व राष्ट्रपति बराक ओबामा ने अमेरिकी कांग्रेस पर हुए हमले के लिए मौजूदा अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप और रिपब्लिकन सांसदों को उत्तरदायी ठहराया है. उन्होंने इस घटना को ‘देश के लिए अपमान और शर्मिंदगी का क्षण’ बताया.

ट्विटर, फेसबुक, इंस्टाग्राम ने भी ट्रंप का एकाउंट किया ब्लॉक

माइक्रो-ब्लॉगिंग वेबसाइट ट्विटर (Twitter) ने डोनाल्ड ट्रंप के कुछ ट्वीट्स को हटाने के साथ ही 12 घंटे के लिए उनका हैंडल सस्पेंड कर दिया. ट्विटर के इस एक्शन के बाद फेसबुक और इंस्टाग्राम ने भी उन पर 24 घंटे का बैन लगा दिया.

वाशिंगटन में हिंसा को देख व्यथित हूं : PM नरेंद्र मोदी

यह देश के इतिहास का दुःखद और शर्मनाक अध्याय है : टिम कुक

जो हो रहा है, गलत है : जैसिंडा आर्डर्न



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *