WhatsApp की प्राइवेसी पॉलिसी का असर: Signal और Telegram पर नए यूज़र्स की बाढ़


WhatsApp की नई प्राइवेसी पॉलिसी के चलते इलॉन मस्क (Elon Musk) के ट्वीट करते हुए उनके फैन्स को प्राइवेसी पर फोकस करने वाले ऐप Signal का उपयोग करने की सलाह दी थी। इसके बाद और भी कई दिग्गजों ने लोगों को WhatsApp छोड़ Signal इस्तेमाल करने के लिए कहा। इसके चलते अब Signal ऐप को डाउनलोड करने वालों की संख्या में बड़ा उछाल देखने को मिल रहा है। यदि आप Signal या Telegram का उपयोग कर रहे हैं, तो आप भी देख रहे होंगे कि आपके दर्जनों कॉन्टेक्ट धीरे-धीरे इन मैसेजिंग ऐप्स पर साइन-अप कर रहे हैं।

बता दें शनिवार को सुबह 5:26 बजे, Signal ने ट्वीट किया था कि ऐप को भारत, ऑस्ट्रिया, फ्रांस, फिनलैंड, जर्मनी, हांगकांग और स्विट्जरलैंड में Apple App Store पर टॉप फ्री ऐप की लिस्ट में प्रथम स्थान हासिल हुआ है।
 

सिग्नल के लिए नए साइन-अप में बढ़ोतरी जाहिर तौर पर इतनी बड़ी थी कि कुछ नेटवर्क पर यूज़र्स को वेरिफिकेशन कोड हासिल करने में देरी हो रही थी। मस्क ने गुरुवार को ट्वीट करते हुए लोगों को Signal ऐप इस्तेमाल करने की सलाह देते हुए ‘Use Signal’ लिखा था। दुनिया के सबसे अमीर आदमी की इस छोटी सी सलाह के चलते सिग्नल पर नए साइन-अप्स की झड़ी लग गई और सर्वर ओवरलोड हो गए।
 

WhatsApp प्रतिद्वंद्वी ने ट्विटर पर इस बात की खुद पुष्टि की। डेवलपर ने लिखा कि साइन-अप में अचानक आए उछाल के कारण नेटवर्क प्रोवाइडर्स को वेरिफिकेशन कोड भेजने में देरी हो रही है।
 
यह सिग्नल ऐप के लिए गोल्डन चांस है, जहां ऐप अपना यूज़रबेस बढ़ा सकता है, क्योंकि फिलहाल अपनी नई प्राइवेसी पॉलिसी के चलते व्हाट्सऐप आलोचनाएं झेल रहा है। बता दें कि व्हाट्सऐप ने अपनी नीतियों में फेरबदल किया है और ये बदलाव यूज़र के निजी डेटा के लिए सुरक्षित नहीं है। पॉलिसी के अनुसार, अब फेसबुक के साथ डेटा साझा करना अनिवार्य हो जाएगा, लेकिन व्हाट्सऐप ने अब स्पष्ट किया है कि यूज़र्स के लिए प्राइवेसी पॉलिसी अपरिवर्तित हैं। नई गोपनीयता नीति में परिवर्तन केवल बिजनेस अकाउंट के लिए हैं।

मस्क के अलावा, Edward Snowden ने भी सिग्नल की सिफारिश की थी। एक यूज़र ने पूछा था कि उन्हें सिग्नल पर भरोसा क्यों करना चाहिए। जिसके जवाब में उन्होंने लिखा “Here’s a reason: I use it every day and I’m not dead yet.”
 

सिग्नल एक ओपन-सोर्स मैसेजिंग ऐप है, जो गोपनीयता पर केंद्रित है और दुनिया भर में पत्रकारों, सुरक्षा विशेषज्ञों समेत कई बड़े संस्थानों द्वारा उपयोग किया जाता है।





Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *